कौन है माफिया मोहम्मद इकबाल जिस पर ED की गिरी गाज, 4440 करोड़ की संपत्ति जब्त

ED Action on Mohammed Iqbal: प्रवर्तन निदेशालय यानी ED ने उत्तर प्रदेश के पूर्व BSP एमएलसी मोहम्मद इकबाल और उसके परिवार के खिलाफ बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया है. अवैध खनन के मामले में ईडी ने ये कार्रवाई की है. जांच अधिकारी ने सहारनपुर में ग्लोकल यूनिवर्सिटी की बिल्डिंग और जमीन को कुर्क कर लिया है. इस संपत्ति की कीमत 4,440 करोड़ रुपये बताई जा रही है.

JBT Desk
JBT Desk

ED Action on Mohammed Iqbal: यूपी के सहारनपुर में हुए अवैध खनन के मामले में ED ने बड़ी कार्रवाई की है. ईडी ने बसपा के पूर्व एमएलसी मोहम्मद इकबाल की ग्लोकल यूनिवर्सिटी की 121 एकड़ जमीन न सभी संपत्ति को जब्त कर लिया है. ईडी ने करीब 4,440 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त कर ली. बता दें कि, इकबाल के खिलाफ सीबीआई और अन्य कई जांच एजेंसियां जांच कर रही हैं. वहीं ईडी इकबाल के खिलाफ बसपा सरकार के बहुचर्चित चीनी मिल घोटाले की जांच कर रही है. इस मामले में पहले ही यानी साल 2021 में पूर्व एमएलसी इकबाल की 1097 करोड़ की संपत्ति जब्त की जा चुकी है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बसपा में आने से पहले इकबाल एक परचून की दुकान चलाता था और आम जिंदगी जीता था लेकिन बसपा शासनकाल में जब उसको एमएलसी बनाया गया तो उसने काली कमाई करके तिजोरी भरनी शुरू कर दी. मोहम्मद इकबाल के ऊपर 25 से ज्यादा मुकदमे दर्ज है.

कौन है मोहम्मद इकबाल

मोहम्मद इकबाल  यूपी के सहारनपुर का रहने वाला है. इकबाल पूर्व में बसपा पार्टी से एमएलसी भी रह चुका है. बसपा के राज में इकबाल की तूती बोला करती थी. लंबे समय से इकबाल ईडी की रडार पर है. कहा जाता है कि, इकबाल  ने हथिनी कुंड बैराज (Hathnikund Barrage) इलाके में तब तक रेत खनन का काला-कारोबार किया जब तक कि, बैराज  की नींव (जड़) ही नहीं हिला डाली. 

पहले परचुन दुकान चलाता था इकबाल

कुख्यात खनन माफिया हाजी इकबाल उर्फ बाला की कई करोड़ की संपत्ति अब तक जब्त की जा चुकी है. इसके बाद भी वह कानून के शिकंजे में फंसने को राजी नहीं है. अकूत दौलत की चाह में अंधे होकर परचून दुकान के मालिक से कुख्यात खनन माफिया बनने वाला बाला किसी जमाने में मधुमक्खी के छत्ते से शहद निकाल कर बेचा करता था. हालांकि करोड़ पति बनने के लालच ने उसे काला कारोबार करने पर उतारू कर दिया.

ईडी के शिकंजे से है फरार

ईडी अधिकारियों के अनुसार मोहम्मद इकबाल काफी समय से फरार चल रहा है. अधिकारियों को अंशाका है कि, वह दुबई में अपना डेरा जमा लिया है. इकबाल के चार बेटे और भाई अलग-अलग मामलों में जेल में बंद हैं. जांच एजेंसी के मुताबिक इकबाल ही अब्दुल वही एजुकेशन एंड चैरिटेबल ट्रस्ट का चेयरमैन था और इसके सभी ट्रस्ट इकबाल के परिवार के ही हैं. 10 साल पहले सीबीआई ने इस मामले में जांच पड़ताल शुरू की थी.

calender
15 June 2024, 10:55 AM IST

जरूरी खबरें

ट्रेंडिंग गैलरी

ट्रेंडिंग वीडियो