'आतंकी किसी को जिंदा नहीं छोड़ते ...' हमले में बचे श्रद्धालु ने सुनाई आपबीती

Jammu Kashmir Terror Attack: जम्मू में आतंकवादियों के बस पर हमले के बाद पुलिस ने बड़े पैमाने पर तलाशी अभियान चलाया, जिसमें 9 लोगों की मौत हो गई और 42 घायल हो गए. इसमें लश्कर-ए-तैयबा का हाथ होने का संदेह है.

JBT Desk
JBT Desk

Jammu Kashmir Terror Attack: रविवार शाम जम्मू कश्मीर में हुए आतंकी हमले के बाद सेना एक्शन में है. ड्रोन की मदद से घने जंगलों में सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है. इस हमले को पीएम मोदी और अमित शाह ने काफी गंभीरता से लिया है. उन्होंने सुरक्षाबलों को आतंकियों के खिलाफ सख्त कदम उठाने का निर्देश दिया है. हमले के 24 घंटे बाद भी आतंकियों का कोई नामो-निशान नहीं मिला है. इस घटना में तीन महिलाओं समेत 9 तीर्थयात्रियों की मौत हो गई थी और 33 अन्य घायल हुए हैं.

जम्मू के रियासी जिले में तीर्थयात्रियों से भरी बस पर हमला को लेकर अधिकारियों ने कहा कि उन्हें पाकिस्तान स्थित आतंकवादी संगठन का हाथ होने का संदेह है . आतंकी हमले के पीछे लश्कर-ए-तैयबा का हाथ हो सकता है.

एम4 कार्बाइन का इस्तेमाल!

सूत्रों के अनुसार जानकारी मिली है कि आंतकियोंम ने हमले में एम4 कार्बाइन का इस्तेमाल किया है. ये सॉल्ट राइफलें 1980 के दशक में अमेरिका ने बनाई गई थीं.  दुनिया भर में इनका इस्तेमाल बड़े पैमाने पर सेना करती हैं. पाकिस्तान की स्पेशल फोर्स और सिंध पुलिस की स्पेशल सिक्योरिटी यूनिट ने भी इसके एक वेरिएंट का इस्तेमाल किया है.

सुरंग के जरिए एलओसी पार

सूत्रों के मुताबिक, बताया जा रहा है कि आतंकियों में करीब 12 जिहादी हैं, जो जम्मू क्षेत्र के तीन या दो के ग्रुप में रंजौरी- पुंछ के जंगलों के अंदर रेकी कर रहे थे. इस आतंकवादी समूह में एलओसी के पार से कई पाकिस्तानी नागरिक शामिल हैं, जिन्होंने सुरंग के जरिए एलओसी पार की. हालांकि अभी तक एलओसी के पास अभी तक कोई सुरंग नहीं मिली है लेकिन तलाशी अभियान जारी है.

'हमले में शामिल लोगों को बख्‍शा नहीं जाएगा'

ये हमला शाम करीब 6 बजकर 15 मिनट पर हुआ था. तीर्थयात्रियों से भरी और 53 सीटों वाली बस शिव खोड़ी मंदिर से कटरा स्थित माता वैष्णो देवा मंदिर जा रही थी. ये हमला उस समय हुआ जब दिल्ली में पीएम मोदी प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने वाले थे. हमले को लेकर तुरंत मंत्री अमित शाह ने कहा कि इस आतंकी हमले में शामिल लोगों को छोड़ा नहीं जाएगा. 

calender
11 June 2024, 06:59 AM IST

जरुरी ख़बरें

ट्रेंडिंग गैलरी

ट्रेंडिंग वीडियो