'एप्पल इतना स्मार्ट नहीं ... Apple और OpenAI की पार्टनरशिप पर एलन मस्क का बयान, बोले- बैन कर दूंगा

Elon Musk: टेस्ला सीईओ एलन मस्क ने Apple और OpenAI की पार्टनरशिप को लेकर अपनी नाराजगी जाहिर की है. उन्होंने कहा कि, Apple कंपनी इतना भी स्मार्ट नहीं है कि वो खुद का AI बना सके. मस्क ने ये भी कहा कि, ये सिक्योरिटी से जुड़ा मुद्दा है जिसे स्वीकार नहीं किया जा सकता है.

JBT Desk
JBT Desk

Elon Musk on  Apple and OpenAI Partnership: टेस्ला के सीईओ और एक्स के मालिक एलन मस्क ने मंगलवार को एक्स पर एक मीम शेयर किया, जिसमें उन्होंने एप्पल पर कटाक्ष किया है. उन्होंने Apple और OpenAI की पार्टनरशिप को लेकर नाराजगी जताई है और उसे बैन करने की भी बात कही है. इतना ही नहीं मस्क ने एपल कंपनी में काम करने वाले लोगों के एपल डिवाइस को भी बैन कर देने की बात कही है.

Apple और OpenAI की पार्टनरशिप को लेकर एलन मस्क का कहना है कि, एप्पल डिवाइस के साथ चैट पीटी का इस्तेमाल सुरक्षित नहीं है इसलिए इसे स्वीकार नहीं किया जा सकता है. एलन मस्क ने कहा कि, अगर एपल ओएस लेवल पर ओपनएआई को इंटीग्रेट करता है तो एप्पल डिवाइस का इस्तेमाल मेरी कंपनी में पूरी तरह बैन कर दिया जाएगा.

Apple और OpenAI की पार्टनरशिप पर एलन मस्क का बयान

एलन मस्क ने अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के ऑफिशियली एक्स हैंडल पर एक पोस्ट शेयर किया है. इस पोस्ट में उन्होंने लिखा है, अगर Apple OS स्तर पर OpenAI को इंटीग्रेट करता है, तो मेरी कंपनियों में Apple डिवाइस पर बैन लगा दिया जाएगा. यह एक सिक्योरिटी से जुड़ा मुद्दा है जिसे स्वीकार नहीं किया जा सकता है.

इसके बाद एक दूसरे पोस्ट में मस्क ने लिखा है, मेरी कंपनी में आने वाले विजिटर्स का भी फोन चेक किया जाएगा अगर वो आईफोन लेकर आते हैं तो उन्हें अपने एप्पल डिवाइस दरवाजे पर छोड़कर आने होंगे. उन्होंने आगे लिखा है कि, इन डिवाइसों की चेकिंग होगी और बाहर ही एक पिंजरे में बंद कर दिया जाएगा.

मस्क ने कहा- एपल इतना स्मार्ट नहीं

टेक अरबपति एलन मस्क ने एक और पोस्ट शेयर करते हुए कहा कि, एपल इतना स्मार्ट नहीं है कि वो खुद का AI बना सके. उन्होंने आगे कहा कि, एपल इस बात को लेकर एश्योर कर रहा है कि बना सके और वह ओपनएआई को लेकर इंश्योर कर रहा है कि OpenAI यूजर्स की सिक्योरिटी और प्राइवेसी को कोई खतरा नहीं होगा. मस्क ने ये भी कहा कि, एपल कंपनी को खुद भी इस बात की जानकारी नहीं है कि, अगर एक बार OpenAI के हाथ में यूजर के डेटा का कंट्रोल आ जाए तो क्या होगा.

क्या है मामला

दरअसल, एप्पल ने एआई का एक नया युग लॉन्च किया है जिसका नाम एप्पल इंटेलिजेंस है. इसके मदद से यूजर्स जेनरेटिव एआई के बूते इमेज बना सकता है. इसके अलावा कंपनी ने दावा किया है कि इस टूल की मदद से रोजमर्रा के कामों को आसान बनाया जा सकता है. साथ ही ईमेल और कंटेंट भी लिख सकते हैं, ऑडियो आवाज को टेक्स्ट में समराइज कर सकते हैं, नोटिफिकेशन सेट कर सकते हैं और इमेज और इमोजी भी बना सकते हैं. ये सुविधाएं केवल iPhone 15 Pro, iPhone 15 Pro Max और Apple की M सीरीज़ चिप्स द्वारा संचालित किसी भी Mac या iPad पर काम करेंगी. इसी दावे को लेकर एलन मस्क ने अपनी नाराजगी जाहिर की है.
 

calender
11 June 2024, 11:58 AM IST

जरुरी ख़बरें

ट्रेंडिंग गैलरी

ट्रेंडिंग वीडियो