Protem Speaker: मंत्रियों ने ले ली शपथ, अब प्रोटेम स्पीकर की बारी, जानिए कैसे होगा चुनाव?

Protem Speaker: देश में आम चुनाव संपन्न होने के बाद सभी को मंत्री पद की शपथ के मिलने के बाद आज 10 जून को मंत्री मंडल का विस्तार हो गया है

JBT Desk
JBT Desk


Protem Speaker: देश में आम चुनाव संपन्न होने के बाद सभी को मंत्री पद की शपथ के मिलने के बाद आज 10 जून को मंत्री मंडल का विस्तार हो गया है लेकिन अब  प्रधानमंत्री और अन्य मंत्रियों के शपथ ग्रहण के बाद अब सांसदों की शपथ से पहले प्रोटेम स्पीकर चुने जाने की बारी है. नई लोकसभा की पहली बैठक के लिए प्रोटेम स्पीकर का चुनाव बेहद अहम होता है.

NDA गठबंधन बहुमत पाकर तीसरी बार सरकार भी बना चुका है. इस बीच Protem Speaker चर्चा में बना हुआ है कि आखिर क्या होता है और इसका क्या काम होता है.

जानिए क्या होता है Protem Speaker

प्रोटेम स्पीकर कुछ समय के लिए राज्यसभा और विधान सभा में काम करता है. सीधे और सरल शब्दों में कहा जाए, तो विधानसभा और लोकसभा के स्पीकर के पद पर जो व्यक्ति कुछ समय के लिए या अस्थायी रूप से कार्य करता है, वह प्रोटेम स्पीकर कहलाता है. प्रोटेम स्पीकर की नियुक्ति गवर्नर करता है.

आमतौर पर इसकी नियुक्ति तब तक के लिए की जाती है, जब तक कि विधा सभा या लोक सभा में स्थायी रूप से स्पीकर या अध्यक्ष का चुनाव नहीं हो जाता. ऐसे में प्रोटेम स्पीकर ही नवनिर्वाचित विधायकों को शपथ दिलाता है. शपथ ग्रहण का पूरे कार्यक्रम का जिम्मा प्रोटेम स्पीकर को उठाना होता है.

जरुरी ख़बरें

ट्रेंडिंग गैलरी

ट्रेंडिंग वीडियो