रेलवे में वेटिंग टिकट कैंसिलेशन के चार्जेस में बदलाव, जानें क्या है नया नियम

Indian Rail: रेलवे ने अब वेटिंग टिकट कैंसिलेशन को लेकर अपने नियम को बदल लिया है. जिसके बारे में आज हम आपको बताने वाले हैं.

JBT Desk
JBT Desk

Indian Rail: भारतीय रेलवे में हर दिन करीब 3 करोड़ लोग यात्रा करते हैं. वहीं भारतीय रेलवे दुनिया की चौथी सबसे बड़ी रेल व्यवस्था है. बता दें कि पिछले कुछ सालों में भारतीय रेलवे में कई तरह के बदलाव देखे गए हैं. साथ ही रेलवे की अनेक सुविधाएं धीरे- धीरे बेहतर होते जा रही है. स्टेशनों की व्यवस्थाओं में कई तरह का सुधार देखने को मिला है.

इतना ही नहीं रेलवे में कुछ नियम ऐसे थे जो बहुत समय से एक जैसे ही हैं. जिनमें बदलाव करने की आवश्यकता थी, इसी बीच रेलवे की टिकट कैंसिलेशन पर चार्जेस को लेकर खबर सामने आ रही है. दरअसल इसमें रेलवे की मोटी कमाई होती थी, मगर यात्रियों को बहुत नुकसान का सामना करना पड़ता था.  

टिकट कैंसिलेशन में हुआ बदलाव

भारतीय रेलवे ने यात्रियों को सुविधा को देखते टिकट कैंसिलेशन को लेकर नया नियम बनाया है. जिसके अनुसार अब वेटिंग और आरएसी टिकट कैंसिलेशन में रेलवे की तरफ से अलग से चार्ज नहीं लिया जाएगा. रेलवे के जारी किए इस नए नियमों में अगर कोई टिकट वेटिंग में लेता है या आरएसी (RAC) में होती है तो उससे सर्विस चार्ज के रूप में एक्सट्रा रुपये नहीं लिए जाएंगे.

अब निर्धारित रकम यानी 60 रुपए काटे जाएंगे, जिसमें स्लीपर में 120 रुपए का चार्ज काटा जाएगा. साथ ही थर्ड एसी (AC) की टिकट कैंसिल करने पर 180 रुपए का चार्ज कटेगा, जबकि सेकंड एसी (AC) की टिकट कैंसिल करने पर 200 रुपए काटे जाएंगे. वहीं 200 रुपए फर्स्ट एसी (AC) पर 240 रुपए काटेंगे. 

टिकट कैंसिलेशन चार्ज 

झारखंड के गिरिडीह के सुनील कुमार खंडेलवाल जो कि एक सोशल वर्कर होने के साथ RTI एक्टिविस्ट हैं. उनके तरफ से बताया गया कि आरटीआई लगाकर टिकट कैंसिलेशन चार्ज के बारे में शिकायत दर्ज की गई थी. जिसमें कहा गया था कि रेलवे केवल टिकट कैंसिल करने के चार्ज से ही करोड़ों की कमाई कर लेता है. जिस कारण यात्रियों को बहुत नुकसान हो रहा है. आगे कहा कि 190 रुपए की एक टिकट बुक की गई थी, मगर उसके रेलवे ने कैंसिलेशन के बाद रिफंड सिर्फ 95 रुपए ही किए हैं.  

calender
25 April 2024, 05:06 PM IST

जरूरी खबरें

ट्रेंडिंग गैलरी

ट्रेंडिंग वीडियो