आखिर चुनाव के बीच CM ममता ने इंडिया गठबंधन को लेकर क्यों किया ये ऐलान? समझें

Loksabha Election 2024: लोकसभा चुनाव के मद्देनजर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इंडिया गठबंधन की सरकार को लेकर बड़ा दावा किया है.

JBT Desk
JBT Desk

Loksabha Election 2024: लोकसभा चुनाव के अब तक 4 चरण बीत चुके हैं. ऐसे में सभी राजनीतिक दलों का ध्यान 5वें चरण की वोटिंग पर है. वहीं चुनाव के नतीजे 4 जून को जारी किए जाएंगे. इस दौरान आम चुनाव के बीच पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बड़ा दावा किया है. उन्होंने कहा कि अगर चुनाव के बाद देश में इंडिया गठबंधन की सरकार बनती है तो सरकार में शामिल नहीं होंगी, बल्कि बाहर से उनकी पार्टी समर्थन करेगी. ताकि बंगाल के लोगों को कोई किसी भी दिक्कत का सामना ना करना पड़े. सीएम ममता ने यह बयान चौथे चरण के लिए अपने प्रचार अभियान के दौरान एक रैली को संबोधित करते हुए दिया. 

इस शर्त के साथ करेंगी इंडिया गठबंधन को सपोर्ट 

इसके साथ ही ममता बनर्जी  ने अपने संबोधन में कहा कि हम इंडिया गठबंधन को नेतृत्व प्रदान करेंगे और उन्हें बाहर से हर तरह से मदद करेंगे.  हम ऐसी सरकार बनाएंगे ताकि बंगाल में हमारी मां-बहनों को किसी भी तरह की दिक्कत का सामना ना करना पड़े.  जो लोग 100 दिन-रोजगार योजना में काम करते हैं, उन्हें परेशानी ना हो और उनको समस्याओं का सामना नहीं करना पड़ेगा." इस दौरान ममता बनर्जी ने अपने बयान में  टीएमसी के लिए इंडिया गठबंधन की अपनी परिभाषा साफ कर दी. ममता बनर्जी ने कहा, "आपको यह पता होना चाहिए कि इंडिया अलायंस में बंगाल कांग्रेस और सीपीआई (एम) को मत गिनें, वे दोनों हमारे साथ नहीं हैं. वे दोनों भाजपा के साथ हैं.  मैं दिल्ली के बारे में बात कर रही हूं."

सियासी गलियारों में तेज हुई चर्चा 

इस बीच सियासी गलियारों में इंडिया गठबंधन को ममता के 'बाहर से समर्थन' वाले बयान को लेकर चर्चा शुरू हो गई है. बता दें कि इससे पहले बंगाल की पूर्व सत्तारूढ़ पार्टी सीपीएम सहित विभिन्न वामपंथी दलों ने केंद्र में पहली यूपीए सरकार (मनमोहन सिंह के नेतृत्व में) को कैबिनेट में शामिल हुए बिना बाहर से समर्थन दिया था.  दूसरी ओर, ममता और उनकी पार्टी तृणमूल पहले भी कई बार सीधे केंद्र सरकार में शामिल हो चुकी हैं.

1998 में बनी 13 महीने की अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में ममता शामिल नहीं हुईं बल्कि बाहर से समर्थन किया.  बाद में ममता सहित तृणमूल नेता कई बार वाजपेयी और मनमोहन की कैबिनेट में रहे. 1999 से 2004 तक तृणमूल वाजपेयी सरकार में थी.  2009 में ममता मनमोहन कैबिनेट में भी शामिल रहीं. 

चुनाव आयोग को बताया PM मोदी की कठपुतली

इस दौरान अपने बयान में ममता बनर्जी ने चुनाव आयोग (ईसी) को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कठपुतली बताया है. बनर्जी ने दो महीने की अवधि में चुनाव निर्धारित करने के लिए आयोग की आलोचना की और आरोप लगाया कि अत्यधिक गर्मी के कारण आम लोगों को होने वाली कठिनाइयों की अनदेखी करते हुए भाजपा के पक्ष में यह फैसला लिया.

calender
15 May 2024, 09:33 PM IST

जरुरी ख़बरें

ट्रेंडिंग गैलरी

ट्रेंडिंग वीडियो