भारत के कड़े रुख पर बैक फुट पर आए जस्टिन ट्रूडो, कहा- भारत को उकसाने की कोशिश नहीं कर रहे

कनाडाई प्रधानमंत्री ने कहा, "हम भड़काने या आगे बढ़ने की कोशिश नहीं कर रहे हैं. हम बस तथ्यों को सामने रख रहे हैं जैसा कि हम उन्हें समझते हैं."

Saurabh Dwivedi
Saurabh Dwivedi

India-Canada Relations: खालिस्तान समर्थक हरदीप सिंह निज्जर की हत्या को लेकर भारत और कनाडा के बिच कड़वाहट देखने को मिली. कनाडा की ओर से एक्शन के बाद भारत ने भी 'जैसे को तैसा' जवाब दिया.

इस दौरान कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो का मंगलवार एक और बयान सामने आया. उन्होंने कहा कि उनका देश अपने एजेंटों को खालिस्तानी चरमपंथी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या से जुड़े होने का सुझाव देकर भारत को उकसाने की कोशिश नहीं कर रहा है, लेकिन ओटावा चाहता है कि नई दिल्ली इस मुद्दे को ठीक से संबोधित करे. 

कनाडाई प्रधानमंत्री ने कहा, "हम भड़काने या आगे बढ़ने की कोशिश नहीं कर रहे हैं. हम बस तथ्यों को सामने रख रहे हैं जैसा कि हम उन्हें समझते हैं." उन्होंने कहा, "भारत सरकार को इस मामले को बेहद गंभीरता से लेने की जरूरत है.हम ऐसा कर रहे हैं."

दरअसल, आरोप लगाने के साथ ही कनाडा ने कार्रवाई के तौर पर भारत के वरिष्ठ राजनयिक को देश निकाल दिया. इसके कुछ घंटे बाद भारत ने भी एक्शन लिया और कनाडा के राजनयिक को निष्कासित कर दिया है.

पंजाब के जालंधर के भारसिंहपुर गांव का रहने वाला निज्जर सरे में रहता था और उसे राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने "भगोड़ा" घोषित कर दिया था. जिसे 18 जून को कनाडा के सरे ब्रिटिश कोलंबिया में एक पार्किंग क्षेत्र में एक गुरुद्वारे के बाहर गोली मार दी गई थी. कनाडाई पीएम ट्रूडो ने सोमवार को हरदीप सिंह निज्जर की घातक गोलीबारी के पीछे भारत सरकार पर आरोप लगाया.

calender
19 September 2023, 10:30 PM IST

जरुरी ख़बरें

ट्रेंडिंग गैलरी

ट्रेंडिंग वीडियो