HIV से अब मिलेगा छुटकारा! युवाओं में संक्रमण का खतरा कम, जानें रिपोर्ट

AIDS Treatment: साउथ अफ्रीका और युगांडा में एक बड़े क्निकल ट्रायल से पता चला है कि नई प्री-एक्सपोजर प्रोफिलैक्सिस दवा का साल में दो बार इंजेक्शन देने से युवा महिलाओं को एचआईवी  इंफेक्शन से पूरी सुरक्षा देता है. इस टेस्ट में यह बात पता लगाने के भी प्रयास किए गए हैं कि क्या लेनकापाविर 6-6 महीने पर इंजेक्शन और दो अन्य दवाओं की तुलना में एचआईवी इंफेक्शन के खिलाफ बेहतर सुरक्षा प्रदान करता है कि नहीं.

JBT Desk
JBT Desk

AIDS Treatment: एचआईवी एड्स एक गंभीर संक्रमण है. जिसका इलाज न मिलने पर व्यक्ति की मौत भी हो सकती है. इस बीमारी के बारे में सही ढंग से जागरूक न होने की वजह से व्यक्ति को घातक परिणाम झेलने पड़ते हैं. इस बीच अब साउथ अफ्रीका और युगांडा में एक बड़े क्निकल ट्रायल से पता चला है कि नई प्री-एक्सपोजर प्रोफिलैक्सिस दवा का साल में दो बार इंजेक्शन देने से युवा महिलाओं को एचआईवी इंफेक्शन से पूरी सुरक्षा देता है.

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, इस टेस्ट में यह बात पता लगाने के भी प्रयास किए गए हैं कि क्या लेनकापाविर 6-6 महीने पर इंजेक्शन और दो अन्य दवाओं की तुलना में एचआईवी इंफेक्शन के खिलाफ बेहतर सुरक्षा प्रदान करता है कि नहीं. सभी 3 दवाएं प्री-एक्सपोजर प्रोफिलैक्सिस एक रोग निरोधक दवाएं हैं.  

5,000 लोगों पर किया गया ट्रायल

युगांडा में तीन और दक्षिण अफ्रीका में 25 स्थलों पर लेनकापाविर और दो अन्य दवाओं का ट्रायल 5,000 लोगों पर किया गया. क्लिनिकल ट्रायल में शामिल साउथ अफ्रीका के चीफ फिजिशियन साइंटिस्ट लिंडा गेल बेकर ने बताया कि इस सफलता की वजहों का पता लगाया जा रहा है. लेनकापाविर HIV कैप्सिड में प्रवेश करता है. बता दें,  कैप्सिड एक प्रोटीन शेल है जो HIV की जेनेटिक मटेरियल और जरूरी एंजाइमों को प्रोटेक्ट करता है. इस साल के 6 महीने बाद स्किन पर लगाया जाएगा. 

2010 में 20 लाख  HIV के मामले

क्लिनिकल ट्रायल के दौरान 2,134 महिलाओं  को लेनकापाविर लगाया गया था जिसके बाद कोई भी HIV पॉजिटिव नहीं है. बीते साल पूरी दुनिया में 13 लाख नए एचआईवी पॉजिटिव के मामले आए थे.  हालांकि पिछले साल के आंकड़े 2010 में आए 20 लाख मामलों बहुत कम है. प्री-एक्सपोजर प्रोफिलैक्सिस इकलौता उपाय नहीं है इसके अलावा  एचआईवी सेल्फ टेस्टिंग, यौन संचारित संक्रमणों के लिए ट्रीटमेंट जैसे चीजें भी शामिल होनी चाहिए. 

इस तरह करें बचाव 

एनचाईवी से बचने के लिए चीजों का ध्यान रखना बेहद जरूरी है. अगर आप शारीरिक संबंध में शामिल हैं तो समय-समय पर एसटीआई की जांच करवाएं. इसके साथ अपने पार्टनर का भी टेस्ट करवाएं. इंजेक्शन लेते समय ध्यान रखें कि पहले किसी और ने इस्तेमाल न किया हो. शारीरिक संबंध बनाते प्रोटेक्शन का इस्तेमाल जरूर करें. 

दवा कब तक बाजार में आएगी?

गिलियड साइंसेज के प्रेस वक्तव्य में पढ़ा गया है कि अगले कुछ महीनों में कंपनी सभी परिणामों के साथ डोजियर कई देशों के नियामकों, विशेष रूप से युगांडा और दक्षिण अफ्रीकी नियामकों को सौंप देगी. विश्व स्वास्थ्य संगठन भी आंकड़ों की समीक्षा करेगा और सिफारिशें जारी कर सकता है. हम आशा करते हैं कि इस नई दवा को विश्व स्वास्थ्य संगठन और देश के दिशानिर्देशों में शामिल कर लिया जाएगा. 

हम यह भी आशा करते हैं कि इस दवा का टेस्ट और अधिक अध्ययनों में किया जाएगा, ताकि यह बेहतर ढंग से समझा जा सके कि इसे वास्तविक दुनिया में कैसे शामिल किया जाए. 

सार्वजनिक क्षेत्र में पहुंच और वितरण सुनिश्चित करने के लिए मूल्य एक महत्वपूर्ण कारक है, जहां इसकी तुरंत जरूरत  है. गिलियड साइंसेज ने कहा है कि वह जेनेरिक दवाइयां बनाने वाली कंपनियों को लाइसेंस प्रदान करेगी, जो कीमतें कम करने का एक और महत्वपूर्ण तरीका है. 

calender
09 July 2024, 10:48 PM IST

जरूरी खबरें

ट्रेंडिंग गैलरी

ट्रेंडिंग वीडियो