मोदी कैबिनेट में क्यों नहीं है एक भी मुस्लिम चेहरा? कितने अल्पसंख्यकों को मिली जगह

Narendra Modi Cabinet: बीते दिन पीएम मोदी ने आज (9 जून) लगातार तीसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ ले ली है. इस दौरान राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने उन्हें पीएम पद की शपथ दिलाई. इसके अलावा एनडीए के कई सहयोगियों ने भी मंत्री पद की शपथ ली.

JBT Desk
JBT Desk

Narendra Modi Cabinet: नरेंद्र मोदी ने तीसरी बार भारत के प्रधानमंत्री पद की शपथ ली है, इसके बाद मोदी स्वतंत्र भारत के 20वें प्रधानमंत्री बन गए हैं. पीएम के साथ 71 मंत्रियों ने भी शपथ ली. पीएम के नेतृत्व में बनाई गई इस नई टीम में 30 कैबिनेट मंत्री, 5 स्वतंत्र प्रभार वाले राज्य मंत्री और 36 राज्य मंत्री शामिल हुए हैं. जिसमें 5 अल्‍पसंख्‍यक जा‍ति के सांसदों को जगह मिली है. जिसमें रामदास अठावले, जॉर्ज कुरियन, पबित्रा मार्गेरिटा और हरदीप सिंह पुरी का नाम शामिल है. इसके अलावा एक नाम ऐसा है जिसने सबको चौंका दिया है. 

इस कैबिनेट में एक भी मुस्लिम चेहरे को जगह नहीं मिली है. इसके अलावा मोदी 3.0 में सभी सामाजिक समूहों के मंत्रियों को शामिल किया गया है. जिसमें 27 अन्य पिछड़ा वर्ग, 10 अनुसूचित जाति, 5 अनुसूचित जनजाति, 5 अल्पसंख्यक शामिल हैं. 

1- रामदास अठावले

रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया के प्रमुख और राज्यसभा सांसद रामदास अठावले ने नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली नई एनडीए सरकार में राज्य मंत्री के रूप में शपथ ली. रामदास अठावले महाराष्ट्र से राज्यसभा सांसद हैं, वह एनडीए की सहयोगी रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया के प्रमुख हैं. हालांकि, वह पिछली सरकार में भी मंत्री रह चुके हैं, लेकिन, मोदी 3.0 में भी उन्हें राज्य मंत्री की जिम्मेदारी मिली है.

2- जॉर्ज कुरियन

इस लिस्ट में केरल के रहने वाले जॉर्ज कुरियन एक वकील और बीजेपी के प्रदेश महासचिव का नाम भी शामिल है. मोदी 3.0 में जॉर्ज कुरियन को मंत्रिपरिषद में शामिल किया गया है. भारतीय जनता युवा मोर्चा (बीजेवाईएम) के माध्यम से राजनीति में प्रवेश करने के बाद वह पिछले चार दशकों से केरल भाजपा में संगठन के आदमी रहे हैं.

3- पबित्रा मार्गेरिटा

असम की रहने वाली बीजेपी नेता पवित्रा मार्गेरिटा को नवगठित मोदी कैबिनेट 3.0 में मंत्री पद के लिए चुना गया है. राज्य मंत्री के रूप में पबित्रा मार्गेरिटा की नियुक्ति एक बड़ी उपलब्धि है. यह सरकार में अनुभवी राजनेताओं के साथ उभरते नेताओं को एक साथ लाने की भाजपा की रणनीति को दिखाता है.

4- हरदीप सिंह पुरी 

हरदीप सिंह पुरी भी मोदी सरकार के तीसरे कार्यकाल का हिस्सा बन गए हैं, उन्होंने मंत्री पद की शपथ ले ली है. हरदीप सिंह इससे पहले मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री और आवास और शहरी मामलों के मंत्री रह चुके हैं. राजनेता बनने से पहले पुरी एक पूर्व राजनयिक थे.

5- रवनीत सिंह बिट्टू 

मोदी सरकार में शामिल होने वाले मंत्रियों में पंजाब से पूर्व कांग्रेस नेता रवनीत सिंह बिट्टू के नाम ने सबसे ज्यादा चौंकाया है. बिट्टू ने राज्य मंत्री पद की शपथ ली. इस बार पंजाब कांग्रेस प्रमुख अमरिंदर सिंह राजा वडिंग ने लुधियाना लोकसभा सीट पर रवनीत बिट्टू को हराया.

बिट्टू कांग्रेस के टिकट पर 2009 में आनंदपुर साहिब और 2014 और 2019 में लुधियाना से लगातार चुनाव जीतते रहे हैं. रवनीत बिट्टू लोकसभा चुनाव से पहले बीजेपी में शामिल हुए थे. ये बड़ी बात है कि बिट्टू के हारने के बावजूद भी उनको मंत्री बनाया गया है. 

calender
10 June 2024, 06:37 AM IST

जरुरी ख़बरें

ट्रेंडिंग गैलरी

ट्रेंडिंग वीडियो