Shashi Tharoor: जब AI थरूर ने असली शशि थरूर से पूछा, 'डिजिटल प्लेटफॉर्म से जुड़ा सवाल'

Shashi Tharoor: इंटरव्यू खत्म होने पर थरूर ने सबका धन्यवाद करते हुए कहा, आपसी बातचीत में AI का इस तरह सामने आना समाज पर AI के प्रभाव को दर्शाता है. रियलिटी और एआई के बीच घटती दूरी आने वाले समय में भविष्य को नया आकार देने में एआई की भूमिका पर प्रकाश डालती है.

calender
11 February 2024, 10:33 PM IST

Congress Leader Shashi Tharoor AI Interview: दुनिया में टेक्नोलॉजी जिस रफ्तार से अपना पांव पसार रहा है, उसको देखते हुए कुछ भी असंभव नहीं लग रहा है. आम तौर पर लोगों कि ये ख्वाहिश होती है कि काश ऐसा चमत्कार होता की किसी इंसान का कोई हमसकल बना पाता. लेकिन अब ये भी संभव हो गया है. तिरूवनंतपुरम के मातृभूमि इंटरनेशनल लिटरेरी फेस्टिवल के दौरान कुछ ऐसा ही वाकया देखने को मिला. जब कांग्रेस सांसद शशि थरूर का इंटरव्यू खुद उनका AI अवतार ले रहा था. ये देखकर आप आसानी से समझ सकते हैं कि असलियत और टेक्नोलॉजी के बीच की खाई कितनी कम होती जा रही है.

कार्यक्रम के दौरान शशि थरूर का AI अवतार पूरी तरह असली थरूर के तौर तरीके और भाषा की नकल कर रहा था. पहली नजर में शायद ही किसी को दोनों शशि थरूर के बीच कोई फर्क नजर आए. दोनों के बीच मातृभूमि इंटरनेशनल लिटरेरी फेस्टिवल और डीपफेक समेत कई मुद्दों पर बातचीत हुई. एआई की इस काबिलयत को खतरे और उपलब्धि के तौर पर देखा गया.

'यह काफी चौंकाने वाला अनुभव'

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर पोस्ट करते हुए कांग्रेस सांसद ने इस इंटरव्यू के बारे में जानकारी दी है. थरूर ने लिखा कि उन्होंने अपने AI अवतार के साथ बातचीत की. लेफ्ट साइड का वर्जन वास्तव में डीपफेक था. कांग्रेस नेता ने आगे बताया कि उन्होंने एक रेगुलर इंटरव्यूअर के पूछे गए सवालों के जवाब पहले ही रिकॉर्ड किए थे. उन्होंने इस अनुभव को काफी चौंकाने वाला बताया.

डिजिटल प्लेटफॉर्म के बारे में थरूर ने की चर्चा

इस इंटरव्यू के दौरान आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस अवतार ने कांग्रेस सांसद थरूर से डिजिटल प्लेटफॉर्म्स के बारे में सवाल पूछा. इसके जवाब में उन्होंने कहा कि डिजिटल मीडिया (सोशल मीडिया) पहले की तुलना में आज काफी बदल गया है. शुरुआती दौर में इस प्लेटफॉर्म पर कम लोग मौजूद थे. जहां असली इंसान अपने विचार व्यक्त करते थे. मगर जिस तरह यहां लोगों की संख्या बढ़ रही है, सोशल मीडिया में ऑर्गेनाइज्ड तत्व भी आए हैं. इससे असली विचारों को चोट पहुंचा है.

calender
11 February 2024, 10:33 PM IST

जरुरी ख़बरें

ट्रेंडिंग गैलरी

ट्रेंडिंग वीडियो