New Parliament: सोमवार से संसद के विशेष सत्र का आगाज हो गया. मंगलवार से सदन की कार्यवाई नए संसद भवन में चलेगी जिसके चलते सोमवार को अखिरी दिन पुरानी संसद भवन में कार्यवाई चली. इस दौरान सभापति और प्रधानमंत्री समेत कई सांसदों ने सदन को संबोधित किया. मंगलवार को जिस तरह से पुरानी संसद से नई संसद भवन में शिफ्ट किया जाएगा उसको लेकर पूरा शेड्यूल जारी कर दिया गया है. 

बता दें कि इस विशेष अवसर के लिए कई प्रकार की तैयारियां पूरी कर ली गई हैं. यह एक ऐतिहासिक पल होगा जिसे खास बनाने में सरकार कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती है. सभी सांसद पुरानी संसद से नई संसद तक पैदल चल कर जाएंगे. इस दौरान सभी सांसदों के हाथों में संविधान की प्रति होगी. 

पैदल चर रहे सांसदों के समूह को प्रधानमंत्री मोदी लीड कर रहे होंगे. इसके बाद नए सदन में पीएम मोदी और राज्यसभा के सभापति का भाषण होगा. बता दें कि इस सबके लिए समय भी तय किया गया है. 

बता दें कि मंगलवार को लोकसभा कि बैठक की शुरुआत दोपहर 01.15 से नए संसद भवन में होगी और राज्यसभा की बैठक दोपहर 02.15 से शुरू होगी. 

सोमवार को दोनों सदनों में पुराने संसद भवन की पुरानी यादों पर चर्चा की गई. तमाम ऐसे ऐतिहासिक क्षणों का जिक्र हुआ जिसका ये संसद कभी साक्षी बना था. संसद भवन के 75 सालों की यात्रा को याद करते हए कई सांसदों ने अपने महत्वपूर्ण क्षणों को भी याद किया. 

इसी के साथ सोमवार को राज्यसभा में सभापति जगदीप धनखड़ और लोकसभा में स्पीकर ओम बिरला ने घोषणा कर दी कि अगली बैठक नए संसद भवन में चलेगी.