टूर्नामेंट से बाहर होने के बाद PAK खिलाड़ियों की कटेगी सैलरी! जानें क्या होगा PCB का अगला कदम

Pakistani Team: पाकिस्‍तान की टीम का इस टी20 वर्ल्‍ड कप में प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा. पहली बार टी20 वर्ल्‍ड कप में हिस्‍सा ले रही अमेरिका की टीम ने पाकिस्‍तान को सुपर ओवर में मात दी. फिर पाक टीम आगे चलकर भारत से भी अपना मुकाबला हार गई. इस बीच अब पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) टीम के खराब प्रदर्शन के बाद सख्त कार्रवाई करने पर विचार कर रहा है.

JBT Desk
JBT Desk

Pakistani Team: ICC T20 वर्ल्ड कप में पाकिस्तान को करारा झटका लगा है. इस टूर्नामेंट में टीम की शुरुआत बेहद ही बेकार तरीके से हुई थी. जिसमें पाकिस्तान को  संयुक्त राज्य अमेरिका के खिलाफ सुपर ओवर में हार झेलनी पड़ी. वहीं टीम को भारत के हाथों भी मात खानी पड़ी, जिसमें वे छह रन से हार गए. कनाडा के खिलाफ एक आसान जीत ने उम्मीद की किरण जगाई थी, लेकिन यूएसए-आयरलैंड के मुकाबले के दौरान हुई भारी बारिश ने पाकिस्तान के क्वालीफिकेशन करने की उम्मीदों पर पानी फेर दिया, जिससे वह टूर्नामेंट के सुपर 8 में जगह नहीं बना पाया. इस बीच अब पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) टीम के खराब प्रदर्शन के बाद सख्त कार्रवाई करने पर विचार कर रहा है. 

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, बोर्ड के भीतर विश्वसनीय सूत्रों ने केंद्रीय अनुबंधों की समीक्षा का सुझाव दिया है, जिसका मतलब खिलाड़ियों के वेतन में कटौती हो सकती है. वरिष्ठ अधिकारियों और पूर्व खिलाड़ियों ने कथित तौर पर पीसीबी के अध्यक्ष मोहसिन नक़वी को सख्त रुख अपनाने की सलाह दी है. जिसने बाबर एंड कंपनी की मुश्किलें बढ़ा दी हैं. 

पाकिस्तान के टूर्नामेंट से बाहर होने के ये है कारण

रिपोर्ट में आगे बताया गया है कि पाकिस्तान के जल्दी बाहर होने में आंतरिक मतभेद और सीनियर खिलाड़ियों के असंगत खेल का हाथ है. आरोपों में शाहीन शाह अफरीदी की कप्तानी खोने पर नाराजगी और बाबर आजम से समर्थन की कमी, साथ ही कप्तान की भूमिका के लिए नजरअंदाज किए जाने पर मोहम्मद रिजवान की नाखुशी शामिल है. सूत्रों का दावा है कि टीम के भीतर तीन गुट हैं, जिनका नेतृत्व बाबर, शाहीन और रिजवान करते हैं. मोहम्मद आमिर और इमाद वसीम जैसे अनुभवी खिलाड़ियों की वापसी ने भी टीम के प्रदर्शन को और जटिल बना दिया है. 

पाकिस्तानी क्रिकेटर की क्या है सैलरी?

पीसीबी के केंद्रीय अनुबंध प्रणाली में ग्रेड-ए का हिस्सा बाबर आज़म, शाहीन अफ़रीदी और मोहम्मद रिजवान को कथित तौर पर 13.53 लाख रुपये का मासिक सैलरी मिलती है.  शादाब खान, फ़ख़र ज़मान, हारिस रऊफ और नसीम शाह जैसे खिलाड़ी ग्रेड-बी में आते हैं, जिन्हें लगभग 9 लाख रुपये प्रतिमाह सैलरी मिलती हैं. ग्रेड-सी और डी के खिलाड़ियों का मासिक वेतन 2.25 लाख रुपये से लेकर 4.5 लाख रुपये तक है. इमाद वसीम खुद को ग्रेड-सी में पाते हैं, जबकि इफ़्तिख़ार अहमद, हसन अली और सैम अयूब ग्रेड-डी के हैं.  इसके अलावा, खिलाड़ियों को अंतरराष्ट्रीय प्रदर्शनों के लिए निश्चित मैच फीस मिलती है. 

calender
15 June 2024, 08:11 PM IST

जरूरी खबरें

ट्रेंडिंग गैलरी

ट्रेंडिंग वीडियो